२०२० नये साल की तीन दोस्तों की कहानी - new year three friends comedy story - amjoys - हिंदी कहानीया

Latest

इस वेबसाइट पर आपको बहोत सारी कहानिया पढ़ने के लिए मिल जाएगी जैसे की ,बच्चो की कहानी,प्यार वाली कहानी,भूतो वाली कहानी और ढेर सारी कहानिया|

Monday, December 9, 2019

२०२० नये साल की तीन दोस्तों की कहानी - new year three friends comedy story

new year three friends comedy story

हेल्लो दोस्तों आज में आपके लिए बहुत ही अच्छी हँसा-हँसा कर पागल कर देने वाली new year three friends comedy story लेकर आया हु।

new year three friends comedy story start 

ये बात है new year three friends की,3 दोस्त थे,ये तीन दोस्तों वाला group भी बड़ा अच्छा होता है,अगर किसीको problem हो तो बिना स्वार्थ किये उसकी मदद करते है,और किसी को कोई problem न हो तो,खुद ही कोई बड़ा सा प्रॉब्लम create कर देते है,ऐसा होता है तीन दोस्तों का ग्रुप,खेर छोड़िये ये कहानी तो नई year की है,तो चलिए शरू करते है,
एक का प्रतिक,दूसरे का अजय और तीसरे का नाम मयूर था,तीनो दोस्त एक साथ अपनी engineering की पढाई कर रहे थे,और वो भी IT Field में,आपको तो पता ही है,IT और computer Engineering में पहेले से ईश्वर की कृपा बनी ही रहती है,ईश्वर की दया mechanical branch में नही थी,(जो नही समजे वो pogo या CN देखो),
new-year-three-friends-comedy-story
new year three friends comedy story

फिर एक बार तीनो दोस्त आपस में लड़ रहे थे,तब बात में से बात निकली की 31 december आ रही है,तभी प्रतिक बोला हां यार अजया 31 december आ रही है।
तभी अजय बोला 31 december  तो हर साल आती है,उसमे में क्या करूँ,ये बात सुनकर मयूर बोला क्यों पिछले साल की तरह इस साल 31 december नही बनानी,यार new year है,चलो ना party करते है।

ये कहानी तो हर घर की है - एक बार जरूर पढ़िए

तभी अजय बोला मुझे आज भी पिछले साल की 31 december याद है,इस बार मुझे मेरे पापा का मार नही खाना,ये सुनकर प्रतिक और मयूर जोर जोर से हँसने लगते है,और प्रतिक बोला अजय फिरसे बता न मुझे सुनकर बहुत ही मजा आता है,फिर अजय बोला तुम सब ने मुझे ढेर सारी पिला दी,और मुझे अकेला छोड़ दिया,फिर में घर जाने के लिए निकला तभी वहा रिक्शा आयी में बोला बोरीवली जाएगा,रिक्शा वाला बोला हां जाऊँगा,फिरसे में बोला पक्का बोरीवली जाएगा,फिर रिक्शा वाला बोला हां भाई पक्का जाऊँगा,फिर में बोला हां तो जाओना इधर क्यों खड़े हो तुम,में कोई Shah rukh khan थोड़ी ना हु की तुम मुझे ऐसे टुकुर-टुकुर देख रहे हो,ये सुनकर प्रतिक बोला फिर-फिर क्या हुआ,फिर अजय बोला फिर क्या वो रिक्शा वाला मुझे दो गाली सुना कर चला गया।

एक ना एक दिन प्यार तो होना ही था दो दोस्तों की कॉमेडी कहानी - एक बार पढ़िए

और अभी बात ख़त्म नही हुई,में थोड़ा आगे बढा और एक डॉक्टर की क्लिनिक के पास पंहुचा,मेने सोचा मेने बहुत पि ली है,मेरा सिर भी बहोत दर्द कर रहा है,एक बार डॉक्टर को दिखा देता हूं,ये सोचकर में डॉक्टर के पास गया,ये सुनके मयूर बोला फिर फिर क्या हुआ।
अजय बोला फिर में क्लिनिक के अंदर जाकर एक खुर्शी में बैठा और साला एक भोपादिका इंसान आया और मुझे घसीट कर एक रूम में ले गया और साले ने मेरा दांत निकाल लिया,उसको मेरा दांत क्या तकलीफ दे रहा था,साले भोपादिका ने मेरा दांत ही निकाल लिया,ये सुनकर मयूर और प्रतिक हँस हँस कर पागल हो चुके रहे,फिर हँसते हँसते प्रतिक बोला फिर तुम घर तक पहुचे के नहीं,अजय बोला फिर में जैसे तैसे करके घर तो पहुच गया,लेकिन घर पहुँचने के बाद भी मेरी पिटाई हो गयी।ये सुनकर मयूर बोला क्यों घर पर जाने के बाद तेरी पिटाई क्यों हुई,अजय बोला में जैसे घर पहुचा मेरे पापा इतनी देर तक कहा था,मेरी गलती से जीभ फिसल गई और मेरे मुंह से निकल गया कि,पापा शेर के ठिकाने नहीं होते,शेर जब चाहे तब घर आता है,और जब चाहे तब घर से बहार निकलता है,आगे से मुझे ऐसा सवाल मत पूछियेगा,वरना ये शेर गुस्सा हो जाएगा,फिर मेरे पापा ने मुझे ऐसा धोया की बात मत पूछो तुम लोग,ये सुनकर प्रतिक और मयूर जोर जोर से हँसने लगते है।

भयानक आत्मा वाली कहानी - एक बार जरूर से पढ़िए

फिर प्रतिक बोला अब छोडो यार ये सब बातें अजय तू बता यह 31 दिसम्बर में अपना क्या प्लान है,अजय बोला मेरा तो सिर्फ एक प्लान है,घर जाऊँगा और चादर ओढ़ कर सो जाऊँगा,नहीं यार इस नहीं तुजे आना ही पड़ेगा,लेकिन अजय मन कर देता है,फिर प्रतिक और मयूर ने जैसे तैसे करके अजय को 31 दिसम्बर की पार्टी के लिए मना ही लिया,और अजय party में आने के लिए तैयार भी हो गया,फिर अजय बोला में party में आऊंगा,लेकिन party करनी कहा है,ये तो बताओ तुम,मयूर बोला वो वो हमारे शहर में न्य dance बार खुल्ला है ना,अजय बोला कोनसा नया dance बार खुला है हमारे शहर में,मयुर बोला वो अपना third class dance baar उसमे हम पार्टी करने जाएंगे ठीक है,अजय और प्रतिक बोले ठीक है,हम third class dance baar में ही party करने जाएंगे,फिर अजय,प्रतिक और मयूर को कहता है कि मेरे यारो मुझे पता है तुम मुझे मना नही करोंगे,उस देवांगी को भी साथ ले लेते है,ना फिर प्रतिक बोला क्यों,भाई अजय बोला समजा करो ना,ये सुनकर मयूर बोला ठीक है देवांगी भाभी को भी साथ ले लेंगे खुश,अजय बोला अब फुल खुश।
new-year-three-friends-comedy-story
new-year-three-friends-comedy-story (Devangi)

फिर सब लोग सब यानी की मयूर,प्रतिक,अजय and देवांगी 31 की party करने third class dance baar में जाते है,और रास्ते में bike पर four सवारी होने के कारण traffic police सब को रोक लेती है,गाडी प्रतिक चला रहा था,traffic police ने प्रतिक को बुलाया,और उन तीनों को सामने खड़े रहने के लिए कहा,फिर प्रतिक उस traffic police के पास गया और बोला बोलिये सरजी में आपकी क्या मदद कर सकता हु,traffic police वाला बोला जी मुझे,अबे बक रहा है,में आपकी क्या मदद कर सकता हु,अब तुजे चालान काटने ने कोई नही बचा सकता,चल लाइसेंस दिखा,फिर प्रतिक लाइसेंस अपनी जेब में यहाँ वहाँ ढूंढता है,ट्राफिक पुलिस वाला बोला जल्दी करो मेरे पास time नही है,प्रतिक फिरसे लाइसेंस अपनी जेब में यहाँ वहाँ ढूंढता है,और अंत में कहता है कि सर जी लाइसेंस तो नही है मेरे पास,ट्राफिक police वाला बोला बहुत ही बढ़िया लाइसेंस का 5000 और PUC दिखाओ,प्रतीक बोला सर जी PUC मेने अजय को दिया था रखने के लिए,ट्राफिक police वाला बोला ये अजय कोन है बे,प्रतिक बोला वो देखिये सर जी जो उस लड़की के साथ बात कर रहा है,ना वही अजय है,ट्राफिक police वाला बोला बुला लो उसे भी मैदान में फिर प्रतिक,अजय को बुलाता है,अजय बोला क्या हुआ,प्रतिक बोला अबे इधर आना कमीने,अजय बोला साला ठीक से फ्लर्ट भी माही करने देता कैसा दोस्त मिला है।

बहुत ही दुःख दायक प्यार की कहानी - एक बार जरूर पढ़े

फिर अजय,प्रतिक के पास जाता है और बोलता है कि हो गया ना सब कुछ ठीक चल अब यहासे तभी ट्राफिक police वाला बोला ओ शहेंशाह की औलाद कुछ ठीक नही हुआ,चल bike का PUC निकाल, अजय जल्दी में बोल दिया की कोनसा puc मेरे पास आपका puc कहा से होगा,और मुझे puc लय होता है वो भी पता नही क्या सर आपभी मजाक करते हो,फिर प्रतिक धीमे से बोला अरे मादरचोर मेरे तुजे कल puc नही दिया था,दिया था ना, फिर अजय बोला हा सर puc ना, traffic police बोला हा puc, अजय बोला सर वो तो मैने मयूर को दिया था,फिर ट्राफिक police वाला गुस्से में आकर बोला अरे अब ये मयूर कोन है,ये सुनकर अजय बोला सर जी आप मयूर को नही जानते,ट्राफिक police वाला बोला हा नही जानता तो,अजय बोला क्या ना मर्द आदमी हो तुम मयूर को नही जानते,ट्राफिक police वाला और ज्यादा गुस्से में आकर बोला ऐ मादरचोर क्या बोल अभी सबको जेल में डाल दूंगा अभी तुम मुझे जानते नही,अभी चुप चाप मयूर को बुलाओ वरना ऐसी जगह पर मारूँगा ना कभी शादी करने लायक नही रहोंगे,अजय और प्रतिक बोला सर बुलाते है हम मयूर बस आप हमें मारना मत वो जगह बहुत ही काम की होती है।

अरे यार संडास में पानी बांध हो गया - पढ़िए ☺☺

ट्राफिक police वाला बोला अबे अब नोटंकी करना बंद कर और चुप चाप उस मयूर के बच्चे को बुलाओ,फिर अजय बोला सर जी पहेले आप confirm कीजिये मयूर को बुलाना है या मयूर के बच्चे को,अगर आपको मयूर का बच्चा चाहिए तो हम दो साल के बाद मिलते है ok सर जी thank you आपका बहुत बहुत शुक्रिया हमे छोड़ने के लिए।
ये सुनकर ट्राफिक police वाला और गुस्से में आ गया और अबे भो#के जल्दी से मयूर को बुलाओ वरना तुम्हारा main पार्ट ही काट डालूंगा,प्रतिक बोला सर जी बुलाते है,आप गर्म मत होइए,फिर प्रतिक और अजय मयूर को बुलाते है,फिर मयूर बोला क्या हुआ,प्रतिक बोला मयूर traffic police सर को puc दिखा जो मेने तुजे कल दिया था,मयूर बोला अबे साले तूने मुझे कभी दिया puc कभी चाय पिलाई नही और Puc की बात करता है,तभी ट्रैफिक हवालदार बोले अबे ये क्या बोल रहा है,
तभी प्रतिक बोला मेरे भाई मयूर मेने तुजे puc नही दिया था,अजय ने तुम्हे puc दिया था,तभी मयूर ohho अजय भाई आपने मुझे puc दिया था,अबे सुवर की औलाद तेरा पूरा खानदान भिखारी है,और तूने मुझे puc दिया।

जीवन में कुछ बड़ा करना है तो ये कहानी पढ़िए

तभी ट्राफिक हवालदार समज गये की इन लोगो के पास puc है नहीं,मुझे चुना लगा रहे है,फिर हवाल दार ने प्रतिक को बोला की तुम्हारे पास puc भी नही है बहोत बढ़िया मतलब की आपके पास लाइसेंस नही है इसका 5000,और puc नहीं है,इनका 3000 मतलब की आठ हजार रूपये,और गाडी पर चार सवारी,और हेलमेट भी नही और साथ में वो लड़की क्या नाम है,उसका अजय बोला देवांगी,ये सुनकर ट्रैफिक वाला बोला हां वो जो भी नाम वो सब मिला कर तुम्हारा चालान 1 करोड़ हो रहा है,ये सुनकर अजय imotional होकर रो पड़ा और बोला की सर हम जैसे गरीब इंसान 1 करोड़ रूपये कहासे लाएंगे सर हमारे भी छोटे छोटे बच्चे है,
तभी ट्राफिक पुलिस वाला अबे कितना जूठ बोलते हो तुम लोग अभी तुम्हारी उम्र बच्चे जैसी है,और बोल रहे हो सर जी हमारे छोटे छोटे बच्चे है,मादरचोरो,अब निकालो 1 करोड़ रूपये वरना किसीको घर नही जाने दूंगा और अपने माँ बाप को बुलाऊंगा,तभी मयूर बोला की सर जी आप अपने मम्मी पापा को क्यों बुलाएँगे,तभी अजय धीरे से मयूर को कहता है,की अबे चूतिये ये हमारे मम्मी पापा को बुलाने की बात कर रहे है।
तभी मयूर इमोशनल होकर बोलता है,की please सर जी हमारे मम्मी पापा को मत बुलाइये और हमें छोड़ दीजिए प्लीज सर।

लालची इंसान की कहानी जादुई मटका - पढ़िए

ट्राफिक पुलिस हवालदार बोले मना किया ना एक बार में तुम लोगो को नही छोडूंगा,तभी अजय बोला सर में आपका मुह में लूंगा,फिर तुरन्त प्रतिक बोला सर में आपकी रोज धोऊंगा,फिर मयूर बोला सर में आपको मुह में दूंगा,ये सुनकर ट्राफिक पुलिस हवालदार गुस्से में आकर बोले अबे क्या बोल रहा है,तू मुझे मुह में देंगा इधर आ तू,फिर मयूर बोला sorry सर जाने दीजिए गलती से मिस्टेक हो गयी,सर अब जाने भी दीजिये हम students है,सर आप ने भी अपनी college लाइफ में enjoy किया ही होगा,प्लीज सर जाने दीजिए,इतना कह कर तीनो रोने लगते है,ट्राफिक पुलिस हवालदार ये सब देखकर imotional हो जाते है,और बोलते है,की बीएस करो बच्चों अब रुलाओगे क्या,जाओ जिलो अपनी जिंदगी में तुम्हारा चालान नही काटूंगा खुश,ये सुनकर मयूर बोला अरे सर जी आपका बहुत ही ज्यादा शुक्रिया,आप एक दिन इस राज्य के CM बनोंगे,ये सुनकर ट्राफिक पुलिस हवालदार हँसकर बोले बस मेरी इतनी भि तारिफ मत करो,अब जाओ तुम्हे देर हो रही है ना, अजय हा सर जी जाते है thank you,

पहले के दिन कैसे थे और आज के दिन कैसे है - एक बार जरूर पढ़िए

अरे 1 minute कहा जा रहे हो ये तो बताकर जाओ,तभी मयूर ने उत्साह में आकर बोल दिया की सर हम third class dance party में जा रहे है,तभी ट्राफिक पुलिस हवालदार बोले अच्छा ठीक है...क्या third class dance party में जा रहे हो रुको चारो को अंदर डालता हु,तभी प्रतिक बोला सर आप समजे नहीं इसके कहने का मतलब यह है कि वो third class dance party है ना, ये सुनकर ट्राफिक पुलिस हवालदार बोले हा तो उसका क्या,प्रतिक बोला आप सुनिये तो सही वो third class dance party के left side जाकर फिरसे लेफ्ट साइड मुड जाने का और फिर right साइड मूड जानेका बस वही हमारा घर है,अबे बताना मयूर चूतिये,मयूर बोला हा सर पक्का वही हमारा घर है,फिर ट्राफिक पुलिस हवालदार बोले ठीक है ठीक है,जाओ अपने घर और पार्टी करि ना, तभी अजय बोला मालूम है सर आप हमारा काट देंगे,अब जाए अपने घर मेरे मम्मी पापा मेरी इन्तजार कर रहे होंगे,ट्राफिक पुलिस हवालदार बोले ठीक है जाओ और उस प्यारी सी लड़की का ख्याल रखना,अजय बोला अरे सर आप tension मत लीजिये,हम पूरा ख्याल रखेंगे।

Also Read - दीवाली में हंगामा

फिर सब third class dance party में जाने के लिए रवाना होते है,थोड़ी दूर पहोचते है,bike के सामने एक औरत सफेद साडी पहनकर आती है,प्रतिक bike चला रहा था,अजय बोला अबे प्रतिक क्या वो देख सफेद साड़ी वाला भुत उसके बाल भी खुल्ले है,मुझे तो बेहद ही डर लग रहा है,तभी वो औरत bike से टकरा गई लेकिन मरी नहीं,ये देखकर सब बाइक से नीचे उतरे और मयूर उस औरत के पास गया,और बोला बहेन जी आप कोंन है,ये सुनकर वो औरत जोर से बोली में गब्बर हु,ये सुनकर प्रतिक बोला लेकिन गब्बर तो शोले फिल्म में था और वो तो आदमी था औरत कब बन गया,अजय के तो पसीने छूट रहे थे,वो औरत जोर जोर से हँसने लगी,फिर अजय,मयूर ऊपर चढ़ जाता है,और रोने लगता है,फिर देवांगी अजय को देख गयी और बोली ये कोई भुत बूत नही है तुम फट्टू नीचे उतरो,फिर देवांगी उस औरत के पास जाती है,और बोली तुम भुत हो,वो औरत बोली हा में खतरनाख भुत हु,ये सुनकर देवांगी एक थप्पड़ लगा देती है,ये देखकर अजय और डर गया,फिर देवांगी दूसरी थप्पड़ देती है,तभी वो औरत रोते रोते बोली अबे बस कर देवांगी कितना मारेंगी में तेरी दोस्त प्रियंका हु,ये सुनकर अजय नीचे उतर गया और बोला ohho चुड़ैल के पीछे अप्सरा क्यों शाली तुम्हे क्या लगा हम जाएंगे,हम किसी से नही डरते।

Also Read - खतरनाख कॉमेडी कहानी

और तुमने हम सबको डराया क्यों,वो तुम एलपीजी अकेले अकेले पार्टी में जा रहे थे न इसीलिए,मेने आपको डराने की कोशिश की,प्रतिक लेकिन नही डरने वाले,पार्टी में तो जाएंगे ही,तभी देवांगी जोरसे बोली अब कोई party में नही जाएगा, अजय बोला लेकिन हम तो जाएंगे,ये सुनकर देवांगी बोली अगर तुम
third class dance party में गये तो हमारा break up, ये सुनकर अब प्रतिक और मयूर निराश होकर धीरे से बोले अब तो cancle ही होगी party, अजय को पता था कि देवांगी की बात सुनकर मयूर और प्रतिक निराश हो चुके है,अजय ने देवांगी को प्रेम से कहा अरे तुम मेरे जिगर जान दोस्त की तरफ तो देखो कितने निराश ही गये,तभी देवांगी गुस्से में बोली अब तुम्हे अपने नालायक दोस्त चाहिए या अपनी girl friend,अजय बोला मुझे अपने दोस्त चाहिए,और वो मेरे दोस्त नहीं मेरे भाई समान है," भाई भाई होता है,कोई नान-खटाई नही होती खा गए "।
ये सुनकर मयूर की आँखं में से पानी आ जाता है,देवांगी बोली में जा रही हु,आज से हमारा break up, अजय बोला "निकल पहेली फुर्सत में निकल ,हिदुस्तान को तेरी कोई जरूरत नही है"।

फिर क्या तीनो दोस्त निकल गए पार्टी में जाने के लिए अजय ने मयूर और प्रतिक को बोला,
" girl friend के लिए मान है,और तुम जैसे चूतियों के लिए जान है,i love you यार "।

आपने देखा ना ये तीन दोस्तों का ग्रुप होता ही ऐसा है,किसीको problem हो तो पहेले उसका कान फट जाए ऐसा मजाक उड़ाते है,और फिर वही उस प्रॉब्लम का solution भी देते है,आपने देखा ना 31 दिसम्बर की पार्टी करने के लिए तीनो दोस्तों ने क्या-क्या पापड़ बेले,पहेले अजय को मनाया,फिर ट्राफिक पुलिस हवलदार के साथ झगड़ा हो गया,फिर अजय का break up हो गया,लेकिन अंत में तीनों दोस्तों ने 31 दिसम्बर की पार्टी जरूर की।
इसे कहते है दोस्त

Share कर दीजिये ये कहानी आपके जिगर जान दोस्तों को,
और ऐसे ही हमारी new year three friends comedy story वाली कहानी खत्म होती है,अगली कहानी में फिर मिलूंगा तब तक के लिए "अलविदा"
Comment करके जरूर बताइये कैसी लगी आपको हमारी कहानी।

               कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद

No comments:

Post a Comment