तोता की कहानी - moral story in hindi - amjoys - हिंदी कहानीया

Latest

इस वेबसाइट पर आपको बहोत सारी कहानिया पढ़ने के लिए मिल जाएगी जैसे की ,बच्चो की कहानी,प्यार वाली कहानी,भूतो वाली कहानी और ढेर सारी कहानिया|

Sunday, October 20, 2019

तोता की कहानी - moral story in hindi

moral story in hindi

Hello dosto,आज में आपके लिए बहोत ही अच्छी moral story in hindi लेकर आया हु।जिसे पढ़कर आप खुश हो जाएंगे।

moral story in hindi start

ये कहानी है,एक तोते की,लेकिन कहानी की शरुआत एक school में पढ़ने वाले बच्चे से होती है।
एक बच्चा है,जिसने अभी नए school में दाखिला लिया है,उस बच्चे का नाम था पिंटू।
पिंटू school गया और teacher ने सबका नाम पूछा।
पिंटू ने जवाब दिया कि मेरा नाम पिंटू परमार है।
फिर teacher ने पिंटू को दूसरा सवाल पूछा कि,तुम अपने vacation में कहा घूमने गए थे।
पिंटू ने ऐसे ही बोल दिया कि सर में vacation में Paris घूमने गया था।
टीचर बोले शाबास।
moral story in hindi,moral
moral-story-in-hindi

फिर पिंटू हँसते-खेलते घर वापस आता है।
पिंटू के दादाजी बोले मेरा पोता पढ़ाई करके आ गया।
पिंटू बोला जी दादाजी।
दादाजी ने पूछा आपको आज school में क्या शिखाया।पिंटू बोला कि दादाजी आज हमे school में बहुत पढ़ाया और मैने शिखा भी बहुत कुछ।
और दादाजी हमे ये भी पूछा कि आप vacation में कहा घूमने गए थे।
दादाजी बोले तो तुमने क्या जवाब दिया।
पिंटू बोला दादाजी मेने बोला कि में पेरिस घूमने
गया था।

निम्बू वाले की प्रेणादायक कहानी एक बार जरूर पढ़े|

दादाजी बोले पिंटू बेटा तुम अपने teacher से जूठ क्यो बोले,तुम तो कभी paris गए ही नही।
पिंटू बोला दादाजी सब लोग अच्छी-अच्छी जगह पट घूमने गए थे,इसीलिए मैंने भी जूठ बोल दिया।
दादाजी बोले पिंटू बेटा ये बहोत ही गलत बात है।
चलो में तुम्हे आज एक कहानी सुनाता हूं।

एक तोता था,और उस तोते का नाम पीहू था।वो अकशर लंबी-लंबी फेकता ही रहता था मतलब की,वो सबसे जूठ ही बोलता रहता था।

एक दिन वो तोता चिड़िया से मिला,तोता बोला तुम यहाँ पर रहती हो ,में तो बड़े से महल में रहता हूं,तुम्हे पता है,आज में दावत पर गया था, उधर गुलाब जामुन,मिठाई और बहोत सारी चीजें खाने को मिली पता है तुम्हे।
में ये मिर्ची-बिरचि कभी नही खाता।
तभी उधर कौआ आया और बोला,अरे क्या तोते कब से फेक रहा है,मेने आज सुबह ही तुम्हे सुखी मिर्ची खाते देखा है।और तुम बोल
रहे हो मेने गुलाब जामुन और बहुत कुछ खाया।

ये कहानी आपको हँसा-हँसा कर रुला देंगी एक बार जरूर से पढ़िए|

ये सुनके तोता थोडासा गुस्सा हो गया,और बोला,वो में नही कोई और कौआ होगा,चलो मेरी अब flight आती ही होगी।मुजे कई और दावत में भी जाना है, तुम्हारे जैसे में बेरोजगार नही हु।
इतना कहकर तोता वहां से चला जाता है।

फिर तोता हाथी से मिलता है,हाथी बोला अरे तोते तुम यहा।तोता बोला हाथी तुम्हे पता है,jungle का राजा शेर मुजे प्रधानमंत्री बनाना चाहता था,मेने मना कर दिया,की मेरे पास time ही नही है।और तुम्हे पता है,कल में मुकेश अम्बानी के घर पर खाना खाने के लिए गया था।
हाथी बोला अबे क्या तोते कब से फेक रहा है।चल निकल यहासे।
तोता बोला मेरे पास इतना time नही है की में तुम जैसे animals के साथ खड़ा रहू, चलो में जाता हूं मुजे और भी कई जगह पर दावत खाने जाना है।

बहुत ही भयानक भूतो वाली कहानी - एक बार जरूर पढ़े|

फिर तोता बंदर से मिलता है,बंदर बोला अरे टोटे तुम यहाँ, तोता बोला अरे बंदर तुम्हे पता है कल मुजे मोर ने बोला तुम्हारी आवाज मेरे से भी अच्छी है।और तुम्हे पता है,कल मेरी लड़ाई jungle के राजा शेर से हो गए।
बंदर बोला फिर क्या हुआ तोते, तोता बोला फिर क्या शेर मुझसे दर कर चला गया।
बंदर बोला क्या फेक रहा है,तू निकल अब यहासे।
तोता बोला हा-हा निकल ता हु वैसे भी मेरे पास फालतू के time नही है,तुम जैसे फालतू लोगो के साथ बात करने का।

फिर एक दिन चिड़िया के घर पर कबूतर आता है।चिड़िया बोली अरे तुम कितने सुंदर हो,और तुम कोन हो।कबूतर बोला मेरा नाम कबूतर है।
ये सुनके चिड़िया बोली कौआ भैया ,कोयल देखो हमारे घर पर कौन आया है।
फिर कौआ और कोयल बहार आते है।
तभी वहां वो तोता भी आता है।तोता को देखकर वो कबूतर बोला अरे तुम pihu ही होना।तोता बोला हा में ही pihu हु,लगता हैं, त मुजे जानते हों,पता है तुम्हे मेरे पास बहुत पैसे है।कल मेने bill gates को 2 crore रुपये उधार दिए।और कबूतर तुम्हे पता है,मेरे पिताजी के पास भी बहोत पैसा है।

कबूतर बोला अरे मेरी बात तो सुनो।में तुम जैसे गरीब लोगों की बात नही सुनता चलो अब में यहासे निकलता मुजे रतन टाटा के घर पर खाना खाने जाना है।तभी वहां से शेर की आवाज आई कि कबूतर चलो मुजे कोई प्रधानमंत्री मिल गया।

और अंत में ये कहानी पढ़ लीजिये|

तोता बोला ये आवाज कहासे आई।कबूतर बोला में तुम्हे कब से यही बताने की कोशिश कर रहा था,की तुम राजा के घर पर रहो और वही खाना खाओ।लेकिन लगता है तुम बहोत रईस हो इसीलिए नही आओगे, और राजा से नया प्रधानमंत्री भी ढूंढ लिया है।
तोता बोला अरे में तो गरीब हु।कबूतर बोला चलो अब में निकलता हु।तोता बोला अरे रुको में तो मजाक कर रहा था।फिर सबके तोता का मजाक हो गया।

फिर दादाजी ने पिंटू को कहा समजे मेरे पोते आज से कभी जूठ मत बोलना।
पिंटू बोला जी दादाजी में समझ गया हूं,आजसे में कभी जूठ नही बोलूंगा।

और ऐसे ही हमारी moral story in hindi खत्म होती है,अगली story में फिर मिलूंगा तब तक के लिए "अलविदा"

                                        कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद

No comments:

Post a Comment