गरीबो की दिवाली - inspirational stories on Diwali poor children - amjoys - हिंदी कहानीया

Latest

इस वेबसाइट पर आपको बहोत सारी कहानिया पढ़ने के लिए मिल जाएगी जैसे की ,बच्चो की कहानी,प्यार वाली कहानी,भूतो वाली कहानी और ढेर सारी कहानिया|

Saturday, October 26, 2019

गरीबो की दिवाली - inspirational stories on Diwali poor children

inspirational stories on Diwali poor children

हेलो दोस्तो,आज में आपके लिए बहोत ही अच्छी inspirational stories on Diwali poor children की कहानी लेकर आया हु जिसे पढ़कर आप खुश हो जाएंगे।

inspirational stories on Diwali poor children Start

ये कहानी है,Diwali की,Diwali के इस त्योहार में एक घर बहुत ही दुखी था क्योंकि,उस परिवार के पास Diwali बनाने के लिए ना ही पैसे थे, और ना ही ढंग के कपड़े।उस परिवार में एक लड़का भी रह रहा था,उस लड़के का नाम मयूर था,लेकिन सब उसे छोटू कह कर बुलाते थे।
inspirational stories on Diwali poor children,inspirational stories, Diwali poor children
inspirational-stories-Diwali-poor-children

छोटू बहोत ही दुखी था,क्योकि उसके पास फटाखे फोड़ने के लिए पैसे नही थे।एक बार छोटू ने अपनी मम्मी को कहा,मम्मी मुजे फटाखे लेने है,please मुझे लेकर दीजिये, छोटू की बात सुनकर छोटू की माँ बहुत निराश हो जाती है, और बोली बेटा तुम्हे तो पता है,की में और तुम्हारे पापा दोनो मजदूरी का काम करते है,और हमे दो दिन से कुछ काम भी नही मिला।

दिवाली में हंगामा - ये कहानी पढ़िए बहोत ही फनी है|

ये सुनके छोटू थोड़ा सा निराश हो जाता है,ये देखकर छोटू की माँ रोने लगती है,और बादमे अपने घर का काम करने लगती है।
एक बार छोटू अपने घर के पास बगीचा है,उधड़ बैठने गया,तो उस बगीचे में सब अमीर के बच्चे फटाखे फोड़ रहे थे,ये देखकर छोटू ज्यादा उदास होता है,क्योकि छोटू को भी फटाखे फोड़ने थे।

तभी एक अमीर घर का लड़का vickey छोटू के पास गया और बोला,तुम्हारा नाम क्या है,छोटू बोला मेरा नाम मयूर है,लेकिन सब मुजे छोटू कह कर बुलाते है,और तुम्हारा नाम क्या है।
Vickey बोला मेरा नाम vickey है,क्या तुम मुझसे दोस्ती करोंगे,छोटू बोला तुम कितने अमीर और में कितना गरीब हु,vickey बोला इसमें क्या हुआ दोस्ती में गरीबी ,अमीरी नही देखा करते,चलो तुम मेरे फटाखे फोड़ो।

जादुई तोते की कहानी भी पढ़े - बहोत ही अच्छी मोरल स्टोरी है|

फिर छोटू,vickey के फटाखे फोड़ता है,और खुश हो जाता है,फिर vickey, छोटू को कहता है,की तुम आज रात मेरे घर पर आना हम दोनों साथ मे फटाखे फोड़ेंगे।
छोटू बोला ठीक है।
फिर छोटू अपनी माँ के पास जाता है और बोलता है कि माँ आज मेने फटाखे फोड़े और में आज रात को मेरे दोस्त vickey के घर फटाखे फोड़ने जाऊंगा।
छोटू की माँ बोली ठीक है,जाना मगर अपना ख्याल रखना छोटू बोला ठीक है।

फिर छोटू रातको vickey के घर जाता है, vickey अपने पापा को बोला पापा ये मेरा नया दोस्त है,हमारे घर पर फटाखे फोड़ने आया है।लेकिन vickey के पापा को ये बात पसन्द नही आई,और vickey को अपने कमरे में ले गए,और बोले आज से तुम उस छोटू के साथ नही रहोंगे,ऐसे लोग पहेले अमीरों के घर ढूंढते है,और बादमे वहाँ से चोरी करते है।

हँसा-हँसा कर रुला देने वाली कहानी - एक बार जरूर पढ़े|

ये सब बातें छोटू सुन रहा था,और फिरसे निराश होकर अपने घर चला गया।
बादमे vickey भी अपने पापा से कुछ नही कह पाया।

फिर दूसरे दिन छोटू वापस उस बगीचे में बैठने जाता है,और vickey फटाखे फोड़ रहा होता है।छोटू देखता है,की vickey के नीचे किसीने बोम्ब रख दिया है,फिर छोटू vickey को धक्का मारके vickey को बचा लेता है,लेकिन छोटू को बहुत चोट लगती है।
ये बात vickey अपने पापा को बताता है।

Vickey के पापा को ये बात जानकर बहुत ही दुख हुआ कि उसने छोटू को गलत समजा, फिर vickey और vickey का सारा परिवार छोटू के घर जाता है,और छोटू की माँ से कहते है, की आपका बेटा बड़ा ही संस्कारी,और ईमानदार है।आपके बेटे ने मेरे बेटे की जान बचाई,इसीलिए आप ये diwali मेरे घर पर बनाएंगे,ये बात सुनकर छोटू की माँ खुश ही जाती है,लेकिन थोड़ी दुःखी भी थी क्योकि छोटू को चोट लगी थी इसलिए।

बहुत ही भयंकर की कहानी|

फिर क्या छोटू और छोटू के परिवार बाले vickey के घर फटाखे फोड़ने जाते है,Vickey के पापा ने छोटू के परिवार वालो को मिठाई और कपड़े भी दिए।

छोटू की ये पहली Diwali थी,जिसमें छोटू ने नए कपड़े पहने थे।

ऐसे ही आप भी इस Diwali पर सबकी मदद करते रहे।
और ऐसे ही हमारी inspirational stories on Diwali poor children की story खत्म होती है,अगली कहानी में फिर मिलूंगा तब तक के लिए "अलविदा"

                        *कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद*



No comments:

Post a Comment