बहोत ही भयंकर भूत की कहानी || horror story - amjoys - हिंदी कहानीया

Latest

इस वेबसाइट पर आपको बहोत सारी कहानिया पढ़ने के लिए मिल जाएगी जैसे की ,बच्चो की कहानी,प्यार वाली कहानी,भूतो वाली कहानी और ढेर सारी कहानिया|

Monday, September 16, 2019

बहोत ही भयंकर भूत की कहानी || horror story

horror story writing

हेलो दोस्तो आज में आपके लिए,एक खतरनाख,भयंकर डरावनी कहानी लेकर आया हु,जिसको पढ़ने के बाद आपको भी डर लगने लगेगा।

Disclaimer - ये स्टोरी सिर्फ काल्पनीय है।
                       इसे दिल पर न ले,ये सिर्फ     
                      मनोरंजन के लिए लिखी गई है।

horror story short start

तो ये कहानी है,एक गाँव की  सारे गाँव के लोग
हँसी-खुशी से रह रहे थे।और गाँव मे होली का त्योहार आया।
सब लोग यानी कि बच्चे, बुजुर्ग सब लोग होली खेल रहे थे,और होली का मजा रह रहे थे।
तभी जहाँ बच्चे होली खेल रहे थे,वहाँ सारे बच्चे सिर्फ एक ही बच्चे को colour को लगा रहे थे।और सारे बच्चे जिस बच्चे को colour लगा रहे थे,उस बच्चे का नाम राजेश था।
और सारे बच्चे राजेश को colour लगा रहे थे,
उसका colour red था,और राजेश को red colour से  एलर्जी थी।
horror-story
horror-story  

राजेश ने सबको बहोत बोला कि मुजे ये लाल colour मत लगाओ,मुजे इससे एलर्जी है।
मुजे साँस लेने में तकलीफ हो रही है।लेकिन कोई भी बच्चा राजेश बात नही सुन रहा था,वो सब अपनी ही मस्ती में राजेश को red colour लगा रहे थे।
और देखते ही देखते राजेश की वह पर मोत हो जाती है।
सारे गाँव वाले वहा इकठ्ठे हो जाते है।और सारे बच्चे को डांटने लगते है,की ये क्या कर दिया आप सब ने।वो बच्चे बोले हम तो सिर्फ राहुल को colour लगा रहे थे,हमे नही पता कि इसकी मोत कैसे हो गई,और सारे बच्चे रोने लगते है।

ये कहानी आपको हँसा-हँसा कर थका देंगी एक बार जरूर पढ़िए|

जैसे-तैसे करके ये बात यहाँ पर खत्म होती है।
और सब गाँव वाले इस बात को भूल जाते है,और फिरसे मजे से रहने लगते है।लेकिन राजेश की आत्मा अभी भी वही पर भटक रही थी।
और अगले साल फिरसे गाँव मे होली आयी सब गाँव वाले मजे से होली खेल रहे थे।लेकिन उस मे से कुछ गाँव के लोग red colour से होली खेल रहे थे,और राजेश को रेड colour बिल्कुल भी पसंद नही था।और जो भी इंसान रेड colour से होली खेल रहे थे,उन सबको राजेश ने एक बार मे मार डाला और कुवे में फेंक दिया।

प्यार वाली कहानी एक बार जरूर पढ़िए|

सभी गाँव वाले लोग यह सोचने लगे कि यहाँ पर जो 6-7 इंसान होली खेल रहे थे,वो कहा गए।फिर सब गाँव वाले ढूंढने लगे उन सब इंसान को और अंत वो सब इंसान कुवे में से मिले और वो भी मरे हुए।सभी गाँव वाले डर गए,की ये कैसे हो गया,एक साथ इतने सारे इंसान की मौत।
जैसे तैसे करके गाव वाले इस बात को भी भूल जाते है।
और वापस मजे से रहने लगते है।
और अगले साल फिरसे होली आती है,सब लोग फिरसे होली खेलने लगते है।बच्चे, बूढ़े सब होली का मजा ले रहे थे।
horror-story
horror-story  

लेकिन उनमेसे दो बच्चे red colour से होली खेल रहे थे।और राजेश ने उन दोनों बच्चों को मौत के घाट उतार दिया।ये बात गाँव वालों को पता चली की गाँव के दो बच्चे मर गए है।
ये बात को गाँव वालों ने नजर अंदाज नही किया और सोचने लगे,की पिछले तीन साल से होली में किसी ना किसी की मौत हो जाती है।
पहेले साल राजेश की दूसरे साल गाव के 6-7 इंसान की और अब ये दो बच्चों की,हमे पता लगाना होगा कि ये सब अचानक कैसे हो रहा है।

जीवन कुछ बड़ा करना है तो ये कहानी जरूर पढ़िए|

फिर गाँव वाले दूसरे गाँव के सबसे बुजुर्ग और सबसे समझदार इंसान के पास जाते है,और ये पूरी कहानी बताते है।वो बुजुर्ग इंसान बोले राजेश की मौत किस तरह हुई थी।वो सब बोले राजेश की मौत सब बच्चे उसको red colour लगा रहे थे,और राजेश को रेड colour से एलर्जी थी।तभी वो बुजुर्ग इंसान बोले दूसरे साल जो 6-7 इंसान की मौत हुई क्या वो भी रेड colour से होली खेल रहे थे।वो गाँव वाले बोले हा वो सब भी रेड colour से होली खेल
होली खेल रहे थे।और अब जिन दो बच्चों की मौत हुई वो भी red colour से ही खेल रहे थे।
horror-story
horror-story  

तभी उस बुजुर्ग इंसान को बात समझ मे आयी,और बोले के अबसे जो भी आपके गाँव मे red colour से होली खेलेगा उसको राजेश पूरी तरह से मार देगा।वो गाँव वाले बोले इसको रोकने का कोई उपाय, वो बुजुर्ग इंसान बोले इसका सिर्फ एक ही उपाय है,आप साबको होली रेड colour से नही खेलनी है,अगर red colour से खेलोगे तो वो राजेश फिरसे आएगा,और फिरसे सबको मार देंगा।
फिर वो गाँव वाले उस बुजुर्ग इंसान को धन्यवाद बोल कर वहाँ से निकल जाते है।

पहले का जीवन कैसा था और आज का जीवन कैसा है एक बार जरूर पढ़िए|

और अपने गाँव पहोचते ही,ये अनाउंसमेंट कर देते है,की अगले साल होली में रेड colour से कोई नही खेलेगा।और गाँव वाले ये मान लेते है।
फिरसे अगले साल होली आई सब लोग होली खेलने लगे,बड़े,बच्चे सभी लोग लेकिन इस बार किसीकी भी मौत नही हुई क्योकि कोई भी इंसान red colour से होली नही खेल रहा था।

और इसी तरह हमारी shortest horror stories वाली कहानी खत्म होती है।

अगली कहानी में फिर मिलूंगा "तब तक के लिए अलविदा"।

"जय हिंद"

                                     *कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद*

No comments:

Post a Comment