Motivation story in hindi - amjoys - हिंदी कहानीया

Latest

इस वेबसाइट पर आपको बहोत सारी कहानिया पढ़ने के लिए मिल जाएगी जैसे की ,बच्चो की कहानी,प्यार वाली कहानी,भूतो वाली कहानी और ढेर सारी कहानिया|

Monday, August 19, 2019

Motivation story in hindi

Motivation story in hindi



में आज आपके लिए एक motivational कहानी लेकर आ गया हु इसको पढ़ने के बाद
आप हर समस्या का समाधान निकल पायेंगे।

Motivation story in hindi Starts


ये कहानी है 2 लड़को की। एक का नाम था राहुल और दूसरे का नाम था अजय,दोनो एक साथ खाते थे,एक साथ खेलते थे,एक साथ पीते थे,और एक साथ toilet जाते थे(नही toilet नही जाते थे ये मेने कुछ ज्यादा लिख दिया)मेरा मतलब है,की हर काम साथ मे करते थे।
Motivation story in hindi,motivation
friend's

धीरे-धीरे दोनो बड़े होते जा रहे हो।और अब दोनों यानी कि राहुल और अजय अब दसवीं कक्षा में आ पहोंचे।दसवीं कक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए वो दोनों ने कोचिंग क्लास का सहारा लिया,और दोनों ने कोचिंग क्लास के 20-20 हजार रुपये फी दी।

फिर राहुल और अजय दोनो दसवीं कक्षा में दिल लगा कर पढ़ने लग गए।और धीरे-धीरे दिन बीतते जाते है । और दोनों की दसवीं की बोर्ड की exam आती है।और राहुल और अजय दोनो सफलता पूर्वक पेपर देकर आते है।और सफलता पूर्वक पास जो जाते है।

फिर राहुल और अजय की दसवीं कक्षा की छुटियां चल रही थी,तब दोनो ये यह निश्चय किया कि हम दोनों बड़े होकर engineer बनेंगे। फिर राहुल और अजय ने दसवीं कक्षा के बाद science field ले ली।दोनो फिरसे साथ school जाने लगे और दोनों ने ग्यारवीं science की एग्जाम सफलता पूर्वक पास कर ली।फिर राहुल और अजय बारवीं science में आते है,गिरसे दोनो को boards की exam आने वाली थी।इसीलिए फिरसे दोनो ने कोचिंग
क्लास join करली और दोनों दिल लगा कर
पढ़ने लग गई।

फिर आई 12 वी boards की exam,दोनो सफलता पूर्वक exam देकर आ गए,और सफलता पूर्वक पास भी हो गए।

अब राहुल और अजय का वेकेशन का समय चल रहा था,लेकिन दोनों ने बाकी लड़को के जैसा समय का दुरुपयोग नही किया,राहुल और अजय vacation में काम पर लग गए।
और दोनों साथ मे engineering का दाखिला लेने यहाँ वहाँ जा रहे और अंत मे दोनो को
एक अच्छी कॉलेज में इंजीनियरिंग का दाखिला
मिल गया।

दोनो कॉलेज साथ जाने लगे।और दोनों को engineering करने में मजा भी बहोत आ रहा था।ऐसे करते करते दिन बीतते जा रहे थे।राहुल और अजय एक साल बीतता है।धीरे धीरे दूसरा साल भी बीतता है ऐसा करते करते दोनो के चाल साल बीत जाते है,राहुल और अजय की engineering खत्म होती है और दोनों को engineering की degree मिल जाती है।

अब दोनों job के लिए apply करते है,लेकिन दोनों मेसे किसीको भी कही पर भी जॉब नही लगती।जॉब न लगने के कारण राहुल डिप्रेसन
में चला जाता है,और मन ही मन खुदको कोशता रहा होते है। राहुल मन ही मन बोलता है,मुझे तो कोई job ही नही दे रहा मेरी तो किस्मत ही खराब है,में अपने माता-पिता पर बोझ बन रहा हु।ऐसा राहुल बोलने लगता है।
मतलब की राहुल अब पूरी तरह से डिप्रेसन में चला जाता है।

रुला देने वाली कहानी 

लेकिन दूसरी तरफ अजय को भी कही पर जॉब नही लग रही थी।लेकिन वो डिप्रेसन में नही जाता।वो खुदको विश्वास दिलाता है कि।
अरे एक जगह जॉब न मिली तो क्या हुआ।अरे दूसरी जगह जाऊंगा,अगर दूसरी जगह भी जॉब नही मिली तो तीसरी जगह जाऊँगा अरे
30000 जगह पर जाऊंगा।अगर फिरभी जॉब न लगी तो चाय बेचने की दुकान खोल दूंगा।
लेकिन कभी निराश नय होऊंगा।

ALSO READ - भूतो वाली कहानी

फिर दूसरे दिन राहुल,अजय के घर जाता है और बोलता है,की यार अजय में क्या करूँ मुजे कुछ समझ मे नही आ रहा है।मेरी कहि पर भी जॉब नही लग रही,गजर से भी बहोत ज्यादा प्रेशर आ रहा है कि तू कहि पर जॉब ढूंढ यार कुछ पता नही चल रहा क्या करूँ मेरे engineering के चार साल भी खराब हो गए।

फिर अजय,राहुल को आस्वासन देता है कि अजय तू tension मत ले, में हु ना देख मेरे को भी कही पर जॉब नही मील रही,में tension ले रहा हु,नही ना इसीलिए तूम भी मत लो tension,तुम डिप्रेशन में मत चले जाना।अजय ,राहुल को इतना कह अपने घर चला जाता है,फिर राहुल भी अपने घर चला जाता है। अब तो राहुल को सारे दोस्त भी चिढाने
लगे कि तेरे तो चार साल बर्बाद हो गए,तुजे तो कही पर भी जॉब नही लग रही।ये सुनके राहुल ओर भी डिप्रेस हो जाता है,फिर राहुल ने अपने आप को एक कमरे में बंध कर दिया,और रोने लगता है।

Motivation story in hindi,Motivation
best friend


बिल्कुल इसा ही अजय के साथ भी होता है।अजय के भी सारे दोस्त अजय को चिढाने लगे कि तुजे तो कहि पर भी जॉब नही लग रही,तेरी तो किस्मत ही खराब है।लेकिन अजय को इस बात का कीच भी फर्क नही पड़ता था।वो अपनी मस्ती में ही रहता था।

फिर एक दिन अचानक से राहुल और अजय दोनो को एक कंपनी का फोन आता है।और कंपनी वाले दोनो को बोलते है।आप दोनों कल शाम को पाँच बजे इंटरव्यू देने हमारी office
पर आ जाना,ये सुनके राहुल और अजय खुशी
उछल पड़ते अपने-अपने परिवार को बताते है,की मुझे एक कंपनी का फोन आया था और मुझे बोला तुम कल शाम को पाँच बजे इंटरव्यू देने के लिए आ जाना।

ये बात सुनके राहुल और अजय के परिवार वाले बहोत ही खुश हो जाते है।फिर राहुल और
अजय को अपने-अपने परिवार वाले आशीर्वाद देते है ,कि भगवान तुम्हे ये जॉब जरूर दिला देंगे। फिर राहुल और अजय भगवान के दर्शन करके दोनो शाम पाँच बजे इंटरव्यू देने के लिए
जाते है। और दोनों की किस्मत अच्छी निकली और दोनों इस इंटरव्यू में पास हो गए और दोनों को जॉब मिल गई।अब दोनों बहोत ही खुश थे।
और दोनों के परिवार वाले भी बहोत खुश थे।

धीरे-धीरे दोनो अपनी कंपनी में पुराने होते जा रहे थे। अब दोनों की शादी हो चुकी थी और राहुल के घर एक बच्चा था।और अजय के घर अभी बच्चे का जन्म नही हुआ था।

लेकिन अचानक ही राहुल की किस्मत फूटने
लगी और राहुल को कुछ reason के लिए
कम्पनी में से निकाल दिया। राहुल बहोत ही परेशान हो चुका था,और पहेले की तरह राहुल
फिर से खुदको कोशने लगता है कि मेरी तो किस्मत ही खराब है।पहेले कहि पर जॉब नही
मिल रही थी और अब अच्छी जॉब मिली थी ,वो भी हाथ से चली गई।

ALSO READ - प्यार वाली कहानी

फिर राहुल अजय के पास जाता है,और अजय को बोलता है,की यार अजय तुम बॉस को समजाओ न मुझे फिरसे जो  पर रख ले।अजय ने बोला कि राहुल तुम tension मत लो में हु ना, में बॉस से बात करूंगा।

फिर दूसरे दिन अजय अपने बॉस से राहुल के बारे में बात करता है, लेकिन वो बॉस साफ-साफ मना कर देते है,की में राहुल को काम पर नही रखूंगा मतलब नही रखूंगा। ये सुनके अजय बहोत ही दुखी हो जाता है।और शाम को जब अजय घर पर आता है,तब राहुल उसको पुछता है,की क्या हुआ राहुल क्या कहा बॉस ने
अजय बोला सॉरी यार राहुल बॉस ने साफ मना कर दिया।राहुल ये सुनके दुःखी हो जाता है।ये देख कर अजय बोला राहुल तुम चिंता मत करो
में हु ना तुम्हे इनसे भी अच्छी जॉब मिल जाएगी।

फिर राहुल निराश होकर अपने घर चला जाता है।फिर घर जाकर भी पहेले जैसा सब उसके दोस्त उसको चिढाने लगे कि ढिकसे एक जगह
कहि पर टिक ही नही पाता,निकाल दिया ना
तुजे जॉब से इसीलायक है,तू ,ये सुनके राहुल और डिप्रेस हो जाता है।फिरसे राहुल अपने आप को एक कमरे में बंध कर देता है।और रोने
लगता है।धीरे-धीरे दिन बीतते जा रहे थे और राहुल का मजाक सब उड़ादते जा रहे थे।

ALSO READ - हँसाने वाली कहानी

लेकिन वो कहते है,ना "भगवान के घर देर है अंधेर नही"।
एक दिन सुबह राहुल को विदेश से फोन आया कि आप क्या हमारी कंपनी के लिए काम करेंगे।
ये सुनके राहुल बहोत ही खुश हुआ।राहुल ने बोला है में आपकी कंपनी के लिए जरूर काम करूंगा।फिर कंपनी वाले बोले ठीक है,में आपको एक ऐड्रेस देता वहाँ जाकर आप इंटरव्यू दे दीजियेगा।राहुल बोलै ठीक है आप मुझे एड्रेस दीजिये में वहाँ जाकर इंटरव्यू दे दूंगा।फिर वो कंपनी वाले राहुल को एड्रेस देते है।

और राहुल ये बात पूरे परिवार को बता है।पूरे परिवार वाले भी बहोत खुश हो जाते है।
फिर राहुल अपने बचपन के पुराने यार अपने भाई के पास जाता है,और बोलता है कि अजय मुझे विदेश से फोन आया था और बोला कि क्या आप हमारी कंपनी के लिए काम करना चाहेंगे।मेने बोलै हा, ये सुनके अजय भी बहोत खुश हो जाता है।और अजय राहुल को ढेर सारी बढ़ाईया देता है।

फिर अगले दिन राहुल इंटरव्यू देने जाता है। और सफलता पूर्वक पास हो जाता है।और अगले महीने से अमेरिका में जॉब का काम शरू कर देता हैं।

ये देख कर जो लोग राहुल को पहेले चिढाते थे।वो लोग अब राहुल को देख कर जल रहे है।

बोध-1)आपके जीवन मे कितनि भी 
          परेशानिया क्यों न आए कभी भी निराश
          मत होना आप इतना याद रखना की
          ईश्वर जो भी करते है हमारे अच्छे के
          लिये ही करते है।

बोध-2)  आपको कहि पर जॉब के लिए
           मना कर रहे है।तो आप tension मत
           ले आप ये सोचिये की मुझे ईश्वर इस
           काम के लिए नही बनाया किसी महान
           काम के लिए बनाया है,इसिलए मुझे
           ये काम नही मिला|

और इसी तरह हमारी Motivation story in hindi  यहाँ पर खत्म होती हैं।

हम अगली कहानी में फिरसे आप से मिलेंगे।

Thanks For Reading

1 comment: